♦इस खबर को आगे शेयर जरूर करें ♦

जन्मकल्याणक महोत्सव के अंतिम दिन विराट कवि सम्मेलन का आयोजन

जन्मकल्याणक महोत्सव के अंतिम दिन विराट कवि सम्मेलन का आयोजन

मनोज कुमार वर्मा संवाददाता मैनपुरी/सैफई

करहल/मैनपुरी।करहल1008 जन्मकल्याणक महोत्सव के अंतिम दिन विराट कवि सम्मेलन का आयोजन किया गया इस कवि सम्मेलन के मुख्य अतिथि चेयरमेन संजीव यादव ने सम्मेलन का फीता काटकर महावीर भगवान की मूर्ति के समक्ष दीप प्रजवल्लित आमोद नितिन मुखिया जैन ने कर कवि सम्मेलन का शुभारंभ किया। करहल जैन भवन नसिया जी जैन मंदिर के विशाल प्रांगण में अखिल भारतीय कवि सम्मेलन का आयोजन भगवान महावीर का 2621वा जन्म कल्याणक महोत्सव आयोजक समित ने मंच पर अतिथि चेयरमैन संजीव यादव गुड्डू को पटका पहनाकर शाल उड़ाकर प्रतीक चिन्ह भेंट कर जोरदार सम्मान किया। विराट कवि सम्मेलन में आये कवियों का तिलक लगाकर शाल,प्रतीक चिन्ह देकर सम्मानित किया जिसमें कवि सबरस मुरसानी हाथरस,डॉ राजीव राज इटावा,नरकंकाल रायबरेली,मनोज चौहान,सुधीर मिश्र निश्छल,शशी श्रेया लखनऊ, अपराजिता सिंह ज़ी एन फेम,सतीष मधुप कवि ने संचालन किया।सरस्वती वंदना कवियत्री अपराजिता सिंह ने की।कवियत्री शशी श्रेया लखनऊ ने अपनी रचना में सुनाया “दिल के जज्बातों से तुम सामने आने से क्यों डरते हो-मेरी गलियों में कई बार क्यों गुजरते हो”

 जीवन का आधार तुम्ही हो सच पुछो तो प्यार तुम्ही हो

  • सपनों का संसार तुम्हीं हो आँखों की शरारते देख मैं तेरी दीवानी हो गई”।

कवि सम्मेलन समिति में प्रमुख पदाधिकारी पंकज बजाज,जितेंद्र बजाज,नितिन मुजबार,सचिन जैन बर्धमान, चिद्रूप जैन कुमुद,संजीव जैन,शैलेश रपरिया,शैलेन्द्र रपरिया,आलोक बकेबरिया, राजीव सिंघई,अंशुल रपरिया,अंकुश पचोलये आदि।

कवियित्रियों का ससम्मान श्री मती टीना जैन,नीतू रपरिया,प्राची जैन,सोनिया कुमुद,शालिनी मुजबार,रीता बजाज ने प्रतीक चिन्ह प्रदान किये।

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें




स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे


जवाब जरूर दे 

झांसी में हो रही बिजली आपूर्ति से आप खुश हैं

View Results

Loading ... Loading ...


Related Articles

Close
Close
Website Design By Bootalpha.com +91 84482 65129