♦इस खबर को आगे शेयर जरूर करें ♦

झांसी में मंदिर मस्जिद से उतारे लाउडस्पीकर, पेश की कौमी एकता की मिसाल

झांसी में मंदिर मस्जिद से उतारे लाउडस्पीकर, पेश की कौमी एकता की मिसाल

मंदिर मस्जिद से उतारे गए लाउडस्पीकर पेश की मिसाल

झांसी संवाददाता हर्ष शर्मा की स्पेशल रिपोर्ट–

वीरांगना महारानी लक्ष्मी बाई के समय से चली आ रही गंगा जमुनी तहजीब को यहां के वाशिंदे आज तक विरासत के तौर पर संभाले हुए हैं। देश में कही भी धर्मों के नाम पर दंगा करवाने बालों के मंसूबों को झांसी ने हमेशा कौमी एकता की मिशाल क़ायम कर कामयाब नहीं होने दिया। यही वजह है की यहां पर आज तक कभी धर्मों के नाम पर कोई फसाद नहीं हुआ। इसी के चलते सरकार के आदेश की पालना और सांप्रदायिक सौहार्द को ध्यान में रखते हुए, झांसी में भी विभिन्न धार्मिक स्थलों पर लगे हुए लाउडस्पीकर उतारे जा रहे हैं।‌‍ यहां बडागांव कस्बे में मंदिर और मस्जिद से लाउडस्पीकर उतारे गए, और धार्मिक स्थलों के प्रबंधकों का कहना है कि अब वे ऐसे साउंड का उपयोग करेंगे जिससे आवाज परिसर के बाहर न जाए।

बड़ा गांव के लोगों ने पेश की मिसाल

देश के कई हिस्सों में लाउडस्पीकर पर जारी विवाद के दरमियान उत्तर प्रदेश की हुकूमत ने नया आदेश जारी किया है. इस आदेश के मुताबिक बिना इजाज़त अब लाउडस्पीकर और माइक नहीं लग पाएंगे. वहीं जो लाउडस्पीकर और माइक पहले से लगे हैं, उनके लिए शर्त रखी गई है कि उनकी आवाज़ परिसर के बाहर नहीं आनी चाहिए.झांसी के बड़ागांव स्थिति सुन्नी जामा मस्जिद से लाउडस्पीकर उतारे गए तो दूसरी ओर रामजानकी मंदिर बड़ागांव से भी प्रबंधकों ने लाउडस्पीकर उतारे।

मोहम्मद ताज आलम, हाफिज मस्जिद बड़ागांव

मस्जिद के पेश इमाम हाफिज मोहम्मद ताज आलम ने बताया कि हाॅर्नों को उतारने के लिए कहा गया था। हमने ऊपर का हाॅर्न उतार लिया है। अब नीचे वाले हाॅर्न काम करेंगे। मस्जिद के अंदर के हिस्से में ही आवाज रहेगी। बाहर आवाज नहीं जाएगी। उन्होंने कहा कि जो काम सब को आराम दे वही काम होना चाहिए।हम चाहते हैं कि आपस का भाईचारा बना रहे।

श्याम मोहन दास ……. महंत राम जानकी मंदिर बड़ागांव

वही राम जानकी मंदिर के महंत श्याम मोहन दास ने बताया कि हम दोनों समुदाय के लोगों ने पहले बैठकर आपसी बातचीत की और उसके दौरान हमने यह निर्णय लिया कि सरकार के द्वारा दिए गए आदेश की हम पालना करते हुए हम अपने मंदिर से लाउडस्पीकर उतर पाएंगे और आवाज को इतना कम रखेंगे, जिससे हमारे पूजा-पाठ और आपकी इबादत में कोई परेशानी ना हो, और लाउडस्पीकर से होने वाली आवाज सिर्फ परिसर के अंदर ही रहे। जिससे आपस में भाईचारा बना रहे। कई जगह हिंसाएं हो रही हैं और दंगे हो रहे हैं। किसी को कोई दिक्क्त न हो, इसे देखते हुए लाउडस्पीकर हटाए गए हैं।

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें




स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे


जवाब जरूर दे 

झांसी में हो रही बिजली आपूर्ति से आप खुश हैं

View Results

Loading ... Loading ...


Related Articles

Close
Close
Website Design By Bootalpha.com +91 84482 65129