♦इस खबर को आगे शेयर जरूर करें ♦

शादी से ऐन पहले दूल्हे का पैर कटा, दुल्हन अड़ गई, बोली-फेरे तो उन्हीं संग लूंगी।

शादी से ऐन पहले दूल्हे का पैर कटा, दुल्हन अड़ गई, बोली-फेरे तो उन्हीं संग लूंगी।

हरदोई। असल जिंदगी की कहानियां कभी-कभी फिल्मों को भी मात देती हैं। जमुका गांव की सरोजिनी और उसके मंगेतर आदित्य की कहानी ऐसी ही है। सरोजिनी और आदित्य की शादी पिछले साल तय हुई। इस साल 12 मई को फेरे होने थे लेकिन एक अप्रैल को हादसे में आदित्य घायल हुए और जान बचाने को उनका एक पैर घुटने से काटना पड़ा।रिश्तेदारियों में खुसर-फुसर शुरू हुई तो सरोजिनी अड़ गई। बोली-फेरे तो उन्हीं संग लूंगी। शादी के बाद उनका पैर कट जाता तो…? कोई जवाब नहीं था। 12 मई को आदित्य सरोजिनी को ब्याह लाए।हरदोई के हन्न पसिगवां गांव के आदित्य की शादी लखीमपुर खीरी जिले के पसगवां थानाक्षेत्र के जमुका गांव की सरोजिनी से तय हुई थी। कक्षा आठ पास सरोजिनी के पिता रामशंकर खेती करते हैं। उसकी मां की मौत हो चुकी है। पिता, दादी-बाबा ने पालन पोषण किया है। सरोजनी के दो छोटे भाई हैं। पिछले साल जून में तिलक हो गया था। इस साल 12 मई को शादी थी। इधर आदित्य के पिता कलक्टर खेती के साथ एक छोटा टेंट हाउस चलाते हैं। आदित्य चार भाई, चार बहन हैं।भाइयों में तीसरे नंबर के आदित्य टेंट हाउस संभालते हैं। आदित्य के पिता कलक्टर बताते हैं-एक अप्रैल की देर रात गांव से जहानीखेड़ा जाते वक्त किसी वाहन ने आदित्य की बाइक को टक्कर मार दी। वह घायल हो गया। शाहजहांपुर ले गए और फिर वहां से लखनऊ। लखनऊ में 4 अप्रैल को पैर की प्लास्टिक सर्जरी हुई। लेकिन इन्फेक्शन फैल गया। जान बचाने को पैर काटना पड़ा।

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें




स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे


जवाब जरूर दे 

झांसी में हो रही बिजली आपूर्ति से आप खुश हैं

View Results

Loading ... Loading ...


Related Articles

Close
Close
Website Design By Bootalpha.com +91 84482 65129