♦इस खबर को आगे शेयर जरूर करें ♦

मंत्री का आश्वासन होगी निष्पक्ष जांच

मंत्री का आश्वासन होगी निष्पक्ष जांच

प्रभारी मंत्री नंद गोपाल नंदी से मुलाकात करती राना खान

हर्ष शर्मा संवाददाता झांसी 

झाँसी आये प्रभारी मंत्री नंद गोपाल नंदी ने सरकार के 100 दिनों में हुए कार्यो को गिनाया, बैठक खत्म होने के बाद सरकार द्वारा की गई संपत्ति कुर्क की एकतरफा कार्रवाई से परेशान कदीर खान की धर्मपत्नी ने झांसी प्रभारी मंत्री नंदगोपाल नंदी को ज्ञापन सौंपा।

प्रभारी मंत्री नंद गोपाल नंदी के आश्वासन से खुश परिवार

ज्ञापन के माध्यम से उन्होंने सरकार के मंत्री नंदगोपाल नंदी से कहा कि जो कुर्क संपत्ति की कार्रवाई उनके खिलाफ की गई है। वह एक तरफा की गई है। और वह चाहती है कि की गई कार्यवाही की निष्पक्ष जांच करवाई जाए। जिससे जो सरकार पर जनमानस का भरोसा बना है। उस भरोसे को कायम किया जा सके। साथ ही उन्होंने कहा कि मकान जप्त होने के बाद उनका परिवार बेघर हो गया है। और वह किसी गैर जगह पर किराए पर रहने को मजबूर है। उनके तीन बच्चे हैं जिसमें उनकी बड़ी बेटी यूपीएससी की तैयारी कर रही है। अचानक हुई इस कार्रवाई से बच्चों की पढ़ाई में बाधा उत्पन्न हो गई है। और उनका कहना था कि उनके पति कदीर खान के साथ कभी व्यापार में पार्टनर रहे नत्थू कुशवाह ने साजिश के तहत फसाया है। जबकि प्रशासन की कार्रवाई के अनुसार नत्थू कुशवाहा गैंग का मुख्य लीडर है। और उसके खिलाफ गुंडा एक्ट का मामला भी दर्ज है। और वह पुलिस द्वारा ईनामिया भी घोषित है, वह पिछले कई महीने से खुलेआम घूम रहा है। प्रशासन उसकी ओर ध्यान ना दे कर जबरन हमारे खिलाफ ही लगातार कार्रवाई करता जा रहा है। प्रभारी मंत्री नंद गोपाल नंदी से मिली कदीर खान की धर्मपत्नी राना खान की बात मंत्री जी ने धैर्य रखकर सुनी और मंत्री जी ने आश्वासन भी दिया है कि किसी भी बेगुना के खिलाफ सरकार काम नहीं करेगी अगर कहीं कोई चूक हुई है तो उसकी निष्पक्षता से जांच करवाई जाएगी। इस पूरे मामले पर अगर हम बात करें तो की गई इस कार्रवाई में मुख्य आरोपी नत्थू कुशवाह है। लेकिन अब तक जो भी कार्रवाई हुई है। वह कदीर खान के खिलाफ हुई है। जिसको लेकर कहीं ना कहीं सरकार की छवि भी धूमिल हो रही है। और इस कार्रवाई को लेकर चर्चाएं भी होती रहती हैं। एक विशेष जाति समुदाय के लोगों का कहना है कि यह कार्रवाई शुरू से ही एक जाति विशेष के लोगों के खिलाफ की जा रही है। अब ध्यान देने वाली बात यह है की दिए गए ज्ञापन से और प्रभारी मंत्री के आश्वासन से प्रशासन अपनी किस तरह से निष्पक्ष जांच करता है। और और कुछ लोगों का भरोसा जो डगमगा रहा है। उस भरोसे को कायम होने में मदद करता है।

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें




स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे


जवाब जरूर दे 

झांसी में हो रही बिजली आपूर्ति से आप खुश हैं

View Results

Loading ... Loading ...


Related Articles

Close
Close
Website Design By Bootalpha.com +91 84482 65129