♦इस खबर को आगे शेयर जरूर करें ♦

मास्टरों ने ली ट्रेनिंग, सरकारी स्कूलों में बच्चों की तादाद में होगा इजाफा

मास्टरों ने ली ट्रेनिंग, सरकारी स्कूलों में बच्चों की तादाद में होगा इजाफा

हर्ष शर्मा संवाददाता झांसी 

झाँसी में उत्तर प्रदेश सरकार की ओर से सरकारी स्कूलों का कायाकल्प करने के लिए यूनिसेफ के सहयोग से एक प्रशिक्षण कार्यक्रम चलाया जा रहा है। जिसमे अंतर्गत मंडलीय स्तर पर मास्टरों को प्रशिक्षण दिया जा रहा है। ऑपरेशन कायाकल्प एवं मेरा विद्यालय, स्वच्छ विद्यालय प्रशिक्षण में मास्टर ट्रेनरों को तकनीकी एवं व्यवहारिक प्रशिक्षण दिया गया। झांसी मंडल की दो दिवसीय आवासीय कार्यशाला में सभी को बताया गया कि सरकारी स्कूलों को और कैसे बेहतर बनाये। शौचालय एवं दिव्यांग शौचालय का क्या पैरा मीटर होना चाहिए। इसकी जानकारी दी गयी। इस कार्यशाला में मंडल के 48 शिक्षकों ने प्रतिभाग किया। झाँसी में 1452, ललितपुर में 1354 और जालौन में 1510 स्कूलों का कायाकल्प होगा। जिसमे मेरा स्कूल स्वच्छ स्कूल बनेगा।

मो, परवेज, मास्टर ट्रेनर

इस कार्यक्रम में प्रशिक्षण ले रहे मास्टर ट्रेनर मो. परवेज़ ने बताया कि इस प्रशिक्षण में हमें बताया गया की स्कूलों में संसाधन को कैसे और बेहतर बनाया जाए। स्कूलों को कैसे बेहतर स्वच्छ रखा जाए। ऑपरेशन कायाकल्प से सरकारी स्कूलों में काफी बदलाव आया है। और आने वाले समय मे काफ़ी बदलाव देखने को मिलेगा। जब सरकारी स्कूल बहुत बेहतर दिखेंगे तो हर कोई चाहेगा कि प्राइवेट स्कूलों की भारी फीसों से बचा जाए। जब सरकारी स्कूल आकर्षक दिखेंगे तो अभिभावक बच्चें को सरकारी स्कूल ही भेजेंगे। समुदाय के सहयोग से अभिभावकों को मोटिवेट किया जाएगा।

रोहित कुमार ( मास्टर ट्रेनर )

वहीं एक और मास्टर ट्रेनर रोहित कुमार ने बताया इस ट्रेनिंग के बाद हमें अपने प्रधानाध्यापकों और स्कूल के टीचरों को इस बारे में बताना है कि किस तरह से हम लोगों को दिव्यांग शौचालय बनाना है ।किस तरह के शौचालय बनाना है।इसका क्या क्राइटेरिया होना चाहिए, और हमारे विद्यालय बाल मैत्रिक होना चाहिए। और हमारे विद्यालय में जो भी कायाकल्प हो वह बच्चों की सुख सुविधाओं को देखते हुए बाल मैत्रिक हो।जब कायाकल्प बाल मैत्रिक होगा तो हमारी सरकार का जो मिशन है पूरा हो पाएगा। ग्रामीण क्षेत्रों में घर पर बच्चों को वो सुख सुविधाएं नहीं मिल पाती जो शहरों में मिलती हैं। और अगर वह सुविधाएं इन बच्चों को विद्यालय में मिलेंगी तो इससे बच्चों का विद्यालय में ठहरा होगा। और सरकारी स्कूलों में दाखिला कराने वाले बच्चों की संख्या में इजाफा होगा। यूनिसेफ द्वारा चलाए जा रहे इस कायाकल्प के अंतर्गत लखनऊ,कानपुर, झांसी, बांदा, वाराणसी, मिर्जापुर, गोरखपुर, अयोध्या, बलिया, देवीपाटन, बरेली, अलीगढ़, दो दिन के प्रशिक्षण कार्यक्रम की योजना है। जो कई मंडलों में हो चुकी है और बाकी पर की जा रही है।इस दो दिन के कार्यक्रम में जिलों से भेजे गए मास्टर ट्रेनरों के अलावा जिलों के बीएसए, एबीएसए, डीआईओएस सहित शिक्षा विभाग से जुड़े अधिकारी भी शामिल हुए

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें




स्वतंत्र और सच्ची पत्रकारिता के लिए ज़रूरी है कि वो कॉरपोरेट और राजनैतिक नियंत्रण से मुक्त हो। ऐसा तभी संभव है जब जनता आगे आए और सहयोग करे


जवाब जरूर दे 

झांसी में हो रही बिजली आपूर्ति से आप खुश हैं

View Results

Loading ... Loading ...


Related Articles

Close
Close
Website Design By Bootalpha.com +91 84482 65129