मण्डावर सरपंच का परिवार लगा है इमरजेंसी सेवाओं में

राजस्थान डेस्क जयपुर

मण्डावर सरपंच का परिवार लगा है इमरजेंसी सेवाओं में

  • मण्डावर सरपंच के पति, दो देवर इमरजेंसी सेवाओं में 3 संभाग मुख्यालयों पर कार्यरत

  • पति कोटा में रेलवे में तथा दो देवर चिकित्सा विभाग उदयपुर व अजमेर में

  • एक परिवार चार जने लगे है आपातकालीन सेवाओं में

कोरोना वायरस के चलते पूरे देश में लॉक डाउन की स्थिति है । सभी विभाग पूर्णतया बंद है परंतु चिकित्सा, पुलिस व रेलवे जैसी ईमरजेंसी सेवाएं अनवरत रूप से जारी है। इसी बीच राजसमंद जिले के भीम उपखंड क्षेत्र के ग्राम पंचायत मंडावर सरपंच प्यारी रावत लॉक डाउन के बाद निरंतर क्षेत्र में भ्रमण कर वस्तुस्थिति का जायजा ले रही है और वास्तविक जरूरतमंद लोगों तक हरसंभव सहायता पहुचा रही है। सरपंच प्यारी रावत के अतिरिक्त इनके परिवार के तीन सदस्य कोटा, उदयपुर व अजमेर संभाग मुख्यालय पर अपनी ईमरजेंसी सेवाएं प्रदान कर रहे है। पति जसवंत सिंह भारतीय रेलवे में लोको पायलट है । ईमरजेंसी सेवाओं में कोटा में कार्यरत है तथा निरंतर सेवाएं प्रदान कर रहे हैं। इसी तरह दो देवर चिकित्सा विभाग में कार्यरत है। जिनमें उदयपुर स्थित राजकीय भोपाल नोबेल हॉस्पिटल में राजेंद्र सिंह सेकंड ग्रेड मेल नर्स के रूप में अपनी सेवाएं दे रहे हैं । वहीं दूसरे राजकीय जवाहरलाल नेहरू हॉस्पिटल अजमेर में महेंद्र सिंह सहायक के रूप सेवाएं प्रदान कर रहे है।

निरन्तर जागरूकता संदेश कर रहे प्रसारित

सरपंच प्यारी रावत के पति ईमरजेंसी सेवा में लगे लोको पायलट जसवंत सिंह , चिकित्सा विभाग में कार्यरत राजेंद्र सिंह व महेंद्र सिंह गांव में रहने वालों को निरन्तर जागरूकता संदेश प्रसारित कर रहे हैं ।

ड्यूटी के बाद कपड़े, गाड़ी, बैग सब धो रहे, खाना हाथ से पका कर खा रहे है

कोरोना वायरस के चलते पूरी दुनिया दहशत में हैं इस तरह ईमरजेंसी सेवाओं में काम करने वालों के लिए डगर बड़ी मुश्किल है । ड्यूटी के बाद घर लौटने पर सभी कपड़े, बूट , बैग धोए जाते हैं तथा गाड़ी को भी सैनिटाइज किया जा रहा है। इसके बाद अलग कमरे में रहना पड़ रहा है वही खाना भी हाथ से बना कर खाना पड़ता है। वही ड्यूटी जाते समय खाना तो साथ ले जाते हैं परंतु कोरोना वायरस के डर के चलते खाना खा नहीं पाते हैं।

Live Cricket Live Share Market

जवाब जरूर दे 

कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए क्या लॉक डाउन लगना चाहिए

View Results

Loading ... Loading ...

Related Articles

Back to top button
Close
Close